बिहार चुनाव 2020 नौतन विधानसभा छेत्र: रालोसपा के नंदकिशोर कुशवाहा का कल होगा नामांकन

नौतन विधानसभा. हाँ वही सीट जहाँ से जीतकर केदार पांडे बिहार के मुख्यमंत्री बने. एक समय कांग्रेस का गढ़ रहा यह विधानसभा सीट अभी बीजेपी के पास है.

यह वह सीट है जिसपर बीजेपी, जदयू, कांग्रेस, राजद, और रालोसपा सबकी पैनी नज़र थी. लेकिन NDA में यह सीट बीजेपी के पास और UPA में यह सीट कांग्रेस के खाते में आई.

एक और पोलिटिकल फ्रंट बना रालोसपा, बसपा, और अन्य पार्टियों का और यह सीट मिली रालोसपा को. उपेंद्र कुशवाहा इस सीट को काफी महत्वपूर्ण मानते हैं और उन्होंने इस सीट से नौतन के जमीनी नेता नंदकिशोर कुशवाहा को उम्मीदवार बनाया है.

वहीं बीजेपी से नारायण शाह मैदान में हैं. आपको लग रहा होगा मुकाबला रालोसपा और बीजेपी के बिच हैं. लेकिन नौतन विधानसभा के कहानी में एक ट्वीस्ट हैं मनोरमा प्रसाद, जदयू के टिकट से पूर्व विधायक अबकी बार निर्दलीय मैदान में रहेंगी.

बीजेपी जदयू घमासान नौतन सीट पर भी दिख रहा है

राजनितिक विशेषज्ञों का मानना है की जिस प्रकार बीजेपी जदयू को घेरने के लिए चिराग पासवान वाले लोजपा को उसके विरुद्ध मैदान में उतरा है. वैसे ही नितीश अपने नेताओं को निर्दलीय लड़ा रहे हैं.

बिहार में आएगा हंग असेंबली?

जानकर दवा कर रहे हैं की इस बार बिहार में किसी भी गठबंधन को पूर्ण बहुमत नहीं मिल पाएगा. ऐसे में उपेंद्र कुशवाहा, पप्पू यादव, और निर्दलीय विधायकों का खूब महत्त्व होगा.

क्या है नौतन विधान सभा का समीकरण?

नौतन विधानसभा सीट पर NDA में सब ठीक नहीं है. मनोरमा प्रसाद के चुनाव मैदान में आने के बाद NDA जदयू और बीजेपी में बंट जायेगा. ऐसे में जो तीसरा चेहरा उभर कर आता है वह है नंदकिशोर कुशवाहा का.

नंदकिशोर कुशवाहा इस मौके को कितना भुना पाएँगे यह वक्त बताएगा, लेकिन नौतन में उनका जमीनी जुड़ाव बहुत अच्छा है. ये गन्ना किसानों से लेकर युवाओं में बेरोज़गारी के मुद्दे पर जहाँ सरकार को घेर रहे हैं वहीं मौजदा विधायक पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहते हैं कि सड़क और पानी का काम इसलिए नहीं हुआ क्यूंकि मौजूदा विधायक भ्रष्टाचार में लिप्त हैं.

सुनिए नंदकिशोर कुशवाहा को:

क्या सोच रही है बिहार कि जनता ?

क्या सोच रही है बिहार की जनता यह आप इस वीडियो में देखें:

Priti Chaubey

Recent Posts

लॉकडाउन में देह व्यापार मजबूर राजस्थान का घुमंतू समुदाय !

आज़ादी के बाद से लेकर अब तक 6 आयोग बने हैं. इनका काम घुमन्तू समुदायों…

3 weeks ago

महात्मा गांधी केंद्रीय विवि के मीडिया अध्ययन विभाग में भरतमुनि संचार शोध केंद्र का हुआ उद्घाटन

अभा संत समिति के महामंत्री पूज्य स्वामी जीतेंद्रानंद सरस्वती जी ने अपने आशीर्वचन में शोध…

3 weeks ago

डॉ साकेत बने भरत मुनि शोध केंद्र के सह समन्वयक

मोतिहारी। महात्मा गांधी केन्द्रीय विश्वविद्यालय के नव गठित आचार्य भरत मुनि संचार शोध केंद्र में…

3 weeks ago

कैसे करें आईटीआर फॉर्म-1 फाइल?

इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फाइल करने का मतलब सरकार को अपनी आमदनी की जानकारी देना…

2 months ago

अगर आपकी इनकम टैक्सेबल नहीं है तो क्या आपको भरना चाहिए ITR? क्या हैं इसके फायदे?

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने में बस एक दिन का समय बचा है, ऐसे में…

2 months ago

केंद्र ने राज्यों से नए साल पर कोरोना वायरस को लेकर पाबंदियों पर विचार करने के लिए कहा

कोरोनावायरस के नए स्ट्रेन के डर को देखते हुए केंद्र सरकार ने नए साल के…

2 months ago

This website uses cookies.